Blog

थायराइड का इलाज

व्यक्ति अपने जीवन और म्रत्यु तक के इस सुनहरी कहानी जिसे सामान्य भाषा में ‘जीवन या जिंदगी’ के नाम से नवाजा जाता है , उसके शुरू से अंत तक एक चरित्र है जिसे वह अपने भीतर से निकाल नहीं पाता वह है उसके भीतर उतपन्न होती चिंताएं। चिंता व्यक्ति के उम्र की तरह बढ़ती रहती […]

श्री दुर्गा सप्तशती पाठ की सही विधि-आप कैसे करते हैं?

माँ और बच्चों का रिश्ता संसार का सबसे अनमोल रिश्ता माना गया है। मां से कुछ भी प्रेम भावना से मांगो तो माँ अवश्य उस मांग को पूर्ण करती है। तभी माँ के भक्त रूपी बच्चे नवरात्रों का इंतजार बेसब्री से करते हैं। उनके मन में माँ के लिए श्री दुर्गा सप्तशती पाठ करने की […]

हनुमान जी की आरती एवं पूजा विधि

भारत वर्ष के सबसे पहले सुपरहीरो से विख्यात पवनपुत्र हनुमान । श्री राम जी के परम भक्त श्री हनुमान जी का जन्म त्रेतायुग के अंतिम चरण में चैत्र पूर्णिमा को मंगलवार के दिन चित्रा नक्षत्र व मेष लग्न के योग में सुबह 6.03 बजे भारत देश में आज के झारखंड राज्य के गुमला जिले के […]

योगासन क्या है: प्राचीन विज्ञान?

प्रत्येक मनुष्य के लिए अपने जीवनकाल में सेहत के प्रति ध्यान देना बेहद आवश्यक है। प्रतिदिन कम से कम 15 से 20 मिनट अपने स्वास्थ्य को दें, योगासन का अभ्यास करें। इससे आपका मन शांत रहेगा जिससे आपको काम करने की नई ऊर्जा प्राप्त होगी। जानिए योगासन क्या है और इससे सम्बंधित प्राचीन विज्ञान। योगासन […]

सोमवार व्रत करने की सम्पूर्ण विधि

हिन्दू मान्यता में हफ्ते के सात दिन देवी देवंताओ के नाम होते हैं अतः रविवार यानी सुर्य देव को शनिवार शनि देव को ठीक उसी प्रकार सोमवार को भक्त शिव जी का दिवस मानते हैं। शिव जी जिनका भक्तों के लिए भोलापन और क्रूर इंसानों के लिए उनका क्रोधित रूप सब में बेहद प्रसिद्ध है। […]

शनि की साढ़े साती: करें ये विशेष उपाय, लौट आएंगे अच्छे दिन!

क्रोध में ग्रस्त व्यक्ति को यह ज्ञात नहीं हो पाता वह क्या कर रहा है । शनि देव जिन्होंने अपने क्रोध की दृष्टि से अपने पिता सूर्य देव तक को नहीं छोड़ा । उन्हें काला कर दिया उनसे बचने के लिए सूर्य देव को महादेव शिव की मदद लेनी पड़ी । शनि देव के प्रकोप […]

स्वाभाविक रूप से बढ़ाएं शुक्राणु की संख्या

शुक्राणु जिसे अंग्रेजी में स्पर्म भी कहा जाता है । स्पर्म जो कि एक यूनानी शब्द है जिसका अर्थ बीज होता है । जिसका अर्थ पुरुष की प्रजनन कोशिकाओं से है। शुक्राणु की गिनती कई गुणों में से एक है जिनका आकलन नियमित वीर्य विश्लेषण के दौरान किया जाता है और इसे प्रजनन क्षमता का […]

महाभारत – किसने लिया किसका अवतार

वेदव्यास जी द्वारा रचित काव्यग्रंथ महाभारत जो कि हिन्दू धर्म का पौराणिक धार्मिक ग्रंथ है। जिसमे न्याय, शिक्षा, चिकित्सा, ज्योतिष, युद्धनीति, योगशास्त्र, अर्थशास्त्र, वास्तुशास्त्र, शिल्पशास्त्र, कामशास्त्र, खगोलविद्या तथा धर्मशास्त्र का भी विस्तार से वर्णन किया गया हैं। यह सभी का मार्गदर्शन करता है। इस ग्रन्थ में जीवन से जुड़े हर प्रश्न के उत्तर हैं जो […]

अधिक मास – क्या होता है मलमास? अधिक मास में क्या करें क्या न करें?

सूर्य की संक्रांति और चन्द्रमा पर आधारित होने वाले हिन्दू पंचांग के 12 मास होते हैं । जिनमे 11 दिन का अंतर आ जाता है जो लगभग एक माह का हो जाता है । इसलिए हर तीसरे वर्ष अधिक मास आ जाता है. इसको लोकाचार में मलमास भी कहा जाता है । आषाढ़ शुक्ल एकम […]

कर्म या किस्मत

कर्म या किस्मत यह सफल व्यक्ति की सफलता के दो प्रमुख कारण है। इसे आप सफलता के दो एक समान पहलू भी कह सकते हैं। अक्सर सफलता का मापदंड को बताते हुए इन दोनों कारणों में मतभेद पैदा कर दिए जाते हैं या खुद ब खुद हो जाते हैं। सफल व्यक्ति का क्रम केवल वो […]

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top