अन्नप्राशन संस्कार हिंदू धर्म में सातवां संस्कार है (Annaprashan)

कहते हैं कि बंगाल में जन्मा व्यक्ति काफी मीठा स्वभाव होता तभी बंगाल के व्यक्ति बहुत अच्छे गायक बनते हैं ऐसा इसीलिए क्योंकि बंगाल की मिठाइयां की खासियत पूरे विश्व में है। एक कहावत बहुत प्रचलित है “जैसा खाया अन्न, वैसा होगा मन”। अर्थात जैसे भोजन तुम करोगे वैसा ही तुम्हारा स्वभाव होगा। अगर आप […]

इन सात ऊर्जा चक्रों पर काबू पा लिया तो हर मनोकामना होगी पूरी

ऊर्जा चक्र (Urja Chakra) हर मनुष्य के भीतर होते हैं जो मेरूदंड में अवस्थित होते है और मेरूदंड जिसे अंग्रेजी में Spinal Column के नाम से जानते हैं। मेरुदंड के आधार से ऊपर उठकर खोपड़ी तक फैले होते हैं। इन्हें उर्जा चक्र कहते हैं, क्योंकि संस्कृत में चक्र का मतलब वृत्त, पहिया या गोल वस्तु […]

कब कौन सा श्राद्ध (Shradh) है? श्राद्ध कर्म विधि

भारत एक विशाल देश जिसकी सुंदरता इसके भीतर मनाए जाने वाले अनगिनत त्यौहार हैं। भारत विश्व भर में प्रसिद्ध है सिर्फ इसीलिए नहीं कि यहाँ के व्यक्ति दिमागी रूप से हर कार्य के लिए सक्षम हैं परन्तु साथ साथ मे भारत ही ऐसा देश है जहाँ हर धर्म में अपने माता पिता का आदर करना […]

कुंभ (Kumbh) क्या है? इसकी शुरुआत कैसे हुई?

भारत विश्व का दूसरा सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश है। आप यह सोच रहे होंगे कि यह मैं क्यों लिख रहा हूँ यह तो सभी को ज्ञात है तो इसका जवाब है कि भारत में जन्मे प्रत्येक व्यक्ति चाहे वह हिन्दू धर्म से तालुक्कत रखता हो या नहीं परन्तु वह कुंभ मेला (Kumbh Mela) के […]

गायत्री मंत्र (Gayatri Mantra) को अत्यंत शक्तिशाली और चमत्कारी माना जाता है

इस लेख की शुरुआत करने से पूर्व गायत्री मंत्र का स्मरण करना चाहूंगा। ॐ भूर्भवः सवः तत् सवितुर्वरेण्यं। भर्गोदेवस्य धीमहि।: धियो यो न: प्रचोदयात्।” गायत्री मंत्र गायत्री मंत्र को हिन्दू धर्म बेहद प्रभावशाली मंत्र होने का दर्जा प्राप्त है। इसकी महत्व “ॐ” शब्द के महत्व के बराबर आंकी गई है। गायत्री मंत्र माँ गायत्री (Maa […]

शास्त्रों के अनुसार खंडित मूर्ति (Khandit Murti) का क्या करना चाहिए?

ईश्ववर हर कण कण में मौजूद हैं। यह वाक्य भारत में बेहद प्रसिद्ध है, तभी भारत देश मे प्रत्येक व्यक्ति इस बात में मान्यता रखता है कि मूरत में ईश्वर वास करते हैं। यह पूर्ण चर्चा विश्वास पर टिकी है। विश्वास है तो भगवान है नहीं तो नहीं है। इसी विश्वास के चलते व्यक्ति एक […]

108 बार मंत्र का जाप करना बेहद शुभ क्यों माना गया हैं?

108 यह वह अंक है जिसको आप कई बार दिनचर्या में सुनते होंगे। हिन्दू धर्म में इस शुभ अंक को बड़ी श्रद्धा समेत इस्तमाल किया जाता है तथा पूजा के वक्त हाथ मे जप के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला माला में भी 108 दाना होता है, इसीलिए यह कहा जाता है कि किसी भी […]

काले घोड़े की नाल (Ghode ki naal) के अचूक उपाय

भगवान इस सृष्टि के रचनाकार हैं, जिन्होंने इस दुनिया को बनाया और वही हैं जिसके इशारे से ही यह दुनिया ताश के पत्तों के समान कभी भी गिर सकती है। भगवान ने इस दुनिया के साथ साथ इंसान एवं अन्य जीव जंतुओं को जन्म दिया, परन्तु जो नहीं दे पाए वह है भय से मुक्ति। […]

क्या होता है पंचक (Panchak), इसे क्यों माना जाता है अशुभ

ईश्वर हर व्यक्ति को धरती पर जन्म लेने से पहले कुछ कार्य सौंपते हैं जिसे उस व्यक्ति को अपने समय काल अर्थात जीवन और म्रत्यु के बीच पूर्ण करने होते हैं। यह कार्य किसी भी रूप में हो सकते हैं। इंसान हर कार्य में सफलता चाहता है, इसी मुताबिक उस कार्य के प्रति मेहनत भी […]

मोती रत्न (Moti Ratn) का प्रभाव और धारण करने की विधि

इस संसार में अनगिनत रहस्य छुपे हुए हैं, जिसकी खोज में प्रत्येक व्यक्ति अपने समय अनुसार लगा हुआ है। इसी संसार के अद्भुत अनगिनत रहस्यों में से रत्नों का संसार भी है। रत्नों का भी अनोखा संसार है जिसकी खुद की भी हैरान करने वाली दुनिया है। इस रत्न से जुड़े कई रहस्य हैं जिसको […]

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top