Blog

16 सोमवार व्रत और कथा करने की सम्पूर्ण विधि

शिवजी को प्रसन्न करने और उनका आशीर्वाद पाने के लिए सोमवार व्रत करना सर्वोत्तम उपाय है। हिंदू मान्यता के अनुसार सप्ताह के सभी सात दिन विभिन्न देवी देवताओं के प्रतीक माने जाते हैं। सप्ताह के सभी सात दिन अलग-अलग देवी-देवताओं को समर्पित है। जैसे सोमवार के अधिपति देवता शिवजी हैं मंगलवार के अधिपति देवता हनुमान […]

चन्द्र ग्रहण का सभी राशियों पर प्रभाव 5 जून 2020

इस बार जून और जुलाई माह में तीन बार ग्रहण योग बन रहा है। ग्रहण अंतरिक्ष की एक प्राकृतिक घटना है। जिसका प्रभाव सभी जीव-जंतुओं पर पड़ता है। ग्रहण के माध्यम से प्रकृति मनुष्य को सही दिशा में आगे बढ़ने की प्रेरणा देती हैं। प्रकृति में परिवर्तन, सृजन और विनाश एक महत्वपूर्ण घटना है। जिसका […]

Janam Kundali In Hindi by Date of Birth, Time and Place.

अब आप भी अपनी Janam Kundali In hindi अपनी मात्रभाषा में प्राप्त कर सकते है। इसके लिए केवल अपनी जन्म तिथि, जन्म का समय, जन्म स्थान और ई-मेल  हमारे साथ शेयर करना होगा और इसके उपरांत आप अपनी जन्मकुंडली आपके ई-मेल पर PDF भेज दिया जायेगा। जिसका आप प्रिंट आउट निकल सकते है। (Janam Kundali In […]

Annaprashan | अन्नप्राशन संस्कार हिंदू धर्म में सातवां संस्कार है

कहते हैं कि बंगाल में जन्मा व्यक्ति काफी मीठा स्वभाव होता तभी बंगाल के व्यक्ति बहुत अच्छे गायक बनते हैं ऐसा इसीलिए क्योंकि बंगाल की मिठाइयां की खासियत पूरे विश्व में है। एक कहावत बहुत प्रचलित है “जैसा खाया अन्न, वैसा होगा मन”। अर्थात जैसे भोजन तुम करोगे वैसा ही तुम्हारा स्वभाव होगा। अगर आप […]

Bure Sapno ka Matlab और उनका फल (swapn fal)

सपना वह है जो हम वास्तविक जिंदगी से अलग हटकर हो भी देखते है। यह सपने दो प्रकार के होते है। एक जो हम सोते हुए देखते है और दुसरे जो हम जागते हुए देखते है। जागते हुए देखे जाने वाले सपने हमारी सोच और इच्छा पर निर्भर करते है परन्तु सोते हुए दिखने वाले […]

इन सात ऊर्जा चक्रों पर काबू पा लिया तो हर मनोकामना होगी पूरी

ऊर्जा चक्र (Urja Chakra) हर मनुष्य के भीतर होते हैं जो मेरूदंड में अवस्थित होते है और मेरूदंड जिसे अंग्रेजी में Spinal Column के नाम से जानते हैं। मेरुदंड के आधार से ऊपर उठकर खोपड़ी तक फैले होते हैं। इन्हें उर्जा चक्र कहते हैं, क्योंकि संस्कृत में चक्र का मतलब वृत्त, पहिया या गोल वस्तु […]

कब कौन सा श्राद्ध (Shradh) है? श्राद्ध कर्म विधि

भारत एक विशाल देश जिसकी सुंदरता इसके भीतर मनाए जाने वाले अनगिनत त्यौहार हैं। भारत विश्व भर में प्रसिद्ध है सिर्फ इसीलिए नहीं कि यहाँ के व्यक्ति दिमागी रूप से हर कार्य के लिए सक्षम हैं परन्तु साथ साथ मे भारत ही ऐसा देश है जहाँ हर धर्म में अपने माता पिता का आदर करना […]

कुंभ (Kumbh) क्या है? इसकी शुरुआत कैसे हुई?

भारत विश्व का दूसरा सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश है। आप यह सोच रहे होंगे कि यह मैं क्यों लिख रहा हूँ यह तो सभी को ज्ञात है तो इसका जवाब है कि भारत में जन्मे प्रत्येक व्यक्ति चाहे वह हिन्दू धर्म से तालुक्कत रखता हो या नहीं परन्तु वह कुंभ मेला (Kumbh Mela) के […]

Gayatri Mantra Meaning| गायत्री मंत्र का अर्थ क्या हैं?

इस लेख की शुरुआत करने से पूर्व Gayatri Mantra का स्मरण करना चाहूंगा। ॐ भूर्भवः सवः तत् सवितुर्वरेण्यं। भर्गोदेवस्य धीमहि।: धियो यो न: प्रचोदयात्।” गायत्री मंत्र Gayatri Mantra को हिन्दू धर्म बेहद प्रभावशाली मंत्र होने का दर्जा प्राप्त है। इसकी महत्व “ॐ” शब्द के महत्व के बराबर आंकी गई है। Gayatri Mantra माँ गायत्री (Maa […]

Khandit Murti | शास्त्रों के अनुसार खंडित मूर्ति का क्या करना चाहिए?

ईश्ववर हर कण कण में मौजूद हैं। यह वाक्य भारत में बेहद प्रसिद्ध है, तभी भारत देश मे प्रत्येक व्यक्ति इस बात में मान्यता रखता है कि मूरत में ईश्वर वास करते हैं। यह पूर्ण चर्चा विश्वास पर टिकी है। विश्वास है तो भगवान है नहीं तो नहीं है। इसी विश्वास के चलते व्यक्ति एक […]

108 Baar Mantra jaap करना बेहद शुभ क्यों माना गया हैं?

108 यह वह अंक है जिसको आप कई बार दिनचर्या में सुनते होंगे। हिन्दू धर्म में इस शुभ अंक को बड़ी श्रद्धा समेत इस्तमाल किया जाता है तथा पूजा के वक्त हाथ मे जप के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला माला में भी 108 दाना होता है, इसीलिए यह कहा जाता है कि किसी भी […]

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top

Fatal error: Uncaught wfWAFStorageFileException: Unable to verify temporary file contents for atomic writing. in /home/myastroh/public_html/wp-content/plugins/wordfence/vendor/wordfence/wf-waf/src/lib/storage/file.php:52 Stack trace: #0 /home/myastroh/public_html/wp-content/plugins/wordfence/vendor/wordfence/wf-waf/src/lib/storage/file.php(659): wfWAFStorageFile::atomicFilePutContents('/home/myastroh/...', '<?php exit('Acc...') #1 [internal function]: wfWAFStorageFile->saveConfig('synced') #2 {main} thrown in /home/myastroh/public_html/wp-content/plugins/wordfence/vendor/wordfence/wf-waf/src/lib/storage/file.php on line 52