शनि की साढ़े साती: करें ये विशेष उपाय, लौट आएंगे अच्छे दिन!

क्रोध में ग्रस्त व्यक्ति को यह ज्ञात नहीं हो पाता वह क्या कर रहा है । शनि देव जिन्होंने अपने क्रोध की दृष्टि से अपने पिता सूर्य देव तक को नहीं छोड़ा । उन्हें काला कर दिया उनसे बचने के लिए सूर्य देव को महादेव शिव की मदद लेनी पड़ी । शनि देव के प्रकोप […]

स्वाभाविक रूप से बढ़ाएं शुक्राणु की संख्या

शुक्राणु जिसे अंग्रेजी में स्पर्म भी कहा जाता है । स्पर्म जो कि एक यूनानी शब्द है जिसका अर्थ बीज होता है । जिसका अर्थ पुरुष की प्रजनन कोशिकाओं से है। शुक्राणु की गिनती कई गुणों में से एक है जिनका आकलन नियमित वीर्य विश्लेषण के दौरान किया जाता है और इसे प्रजनन क्षमता का […]

महाभारत – किसने लिया किसका अवतार

वेदव्यास जी द्वारा रचित काव्यग्रंथ महाभारत जो कि हिन्दू धर्म का पौराणिक धार्मिक ग्रंथ है। जिसमे न्याय, शिक्षा, चिकित्सा, ज्योतिष, युद्धनीति, योगशास्त्र, अर्थशास्त्र, वास्तुशास्त्र, शिल्पशास्त्र, कामशास्त्र, खगोलविद्या तथा धर्मशास्त्र का भी विस्तार से वर्णन किया गया हैं। यह सभी का मार्गदर्शन करता है। इस ग्रन्थ में जीवन से जुड़े हर प्रश्न के उत्तर हैं जो […]

अधिक मास – क्या होता है मलमास? अधिक मास में क्या करें क्या न करें?

सूर्य की संक्रांति और चन्द्रमा पर आधारित होने वाले हिन्दू पंचांग के 12 मास होते हैं । जिनमे 11 दिन का अंतर आ जाता है जो लगभग एक माह का हो जाता है । इसलिए हर तीसरे वर्ष अधिक मास आ जाता है. इसको लोकाचार में मलमास भी कहा जाता है । आषाढ़ शुक्ल एकम […]

कर्म या किस्मत

कर्म या किस्मत यह सफल व्यक्ति की सफलता के दो प्रमुख कारण है। इसे आप सफलता के दो एक समान पहलू भी कह सकते हैं। अक्सर सफलता का मापदंड को बताते हुए इन दोनों कारणों में मतभेद पैदा कर दिए जाते हैं या खुद ब खुद हो जाते हैं। सफल व्यक्ति का क्रम केवल वो […]

क्या है दीपावली का पौराणिक इतिहास

दीपावली का त्योहार घर में खुशी उमंग और आसमान में रोशनी और जगमगाते दीये का संगम लाती है । श्रीराम जी, लक्ष्मण जी और सीता जी के 14 साल के वनवास स लौटने की खुशी में मनाया जाने वाला यह त्योहार अपने साथ कई उमंग भरकर लाती है । जगमगाते दीपो के बीच माँ लक्ष्मी […]

क्या है होली और राधा कृष्ण का संबंध

होली एक ऐसा उल्लास भरा त्योहार जिसका नाम मात्र ही चेहरे पे खुशियां आ जाती है। रंगों से आसमान और इंसान सब रंगे हुए होते हैं। भगवान भी इस दिवस अपने भक्तों के प्रेम रंग में डूबे हुए होते हैं। हर प्रेमी जोड़ा होली के वक्त एक दूसरे को रंग के राधा कृष्ण जैसे प्रेम […]

ब्रह्म मुहूर्त – अध्यात्म व अध्ययन के लिये सर्वोत्तम

जीवन मे हर कार्य करने के लिए एक समय निर्धारित होता है। जिसे हम ज्योतिषी भाषा मे मुहूर्त का नाम देते हैं। हर 24 घंटे के जोड़ के बाद दूसरा दिवस का शुरुआत होता है ठीक वैसे ही 24 घंटे के हर 48 मिनट में मुहूर्त बदलता है । यदि आप गणित में होशियार है […]

बृहस्पति ग्रह – कैसे हुआ जन्म और कैसे बने देवगुरु

सौर मंडल में नवग्रहों की उपस्थिति दर्ज हैं जिसका लिखित प्रमाण हमें हमारे इतिहास से मिलता है। उन्हीं नवग्रहों में सूर्य से पाँचवा और सौर मंडल में सबसे बड़ा बृहस्पति ग्रह है। बृहस्पति ग्रह जिसे गुरू भी कहा गया है एवं रोमन सभ्यता ने अपने देवता जुपिटर के नाम पर इसका नाम रखा था। बृहस्पति […]

शनि शिंगणापुर मंदिर – जानें शनि धाम की कहानी

घर जिसमें कीमती सामान रखा हो पर उस घर की दहलीज पर कोई दरवाजा न हो। पर फिर भी उस घर मे चोरी की कोई वारदात न हुई हो। ऐसा घर आपको कहाँ मिलेगा। तो उसका जवाब है महाराष्ट्र का एक छोटा सा गांव शनि शिंगणापुर। यह किस्सा वह स्थित हर घर की है। शनिशिंगणापुर […]

Begin typing your search term above and press enter to search. Press ESC to cancel.

Back To Top